upsc samany gyan

प्रागैतिहासिक काल की विस्तृत जानकारी हिंदी में pragaitihasik kal hindi me

प्रागैतिहासिक काल की विस्तृत जानकारी धरती की परत का विकास 4 अवस्थाओं में हुआ है. जिसमे अंतिम अर्थात चौथी अवस्था क्वाटर्नरी कहते हैं. इसे दो चरणों में विभक्त किया गया है – अद्यतन(होलोसीन) और अतिनवीन(प्लायिस्तोसिन). मनुष्य का पृथ्वी पर अतिनवीन(प्लायिस्तोसिन) अवस्था के अंतर्गत उत्पन्न हुआ और संसार के अन्य जीव जैसे- हाथी, बकरी, घोडा, मोर, …

प्रागैतिहासिक काल की विस्तृत जानकारी हिंदी में pragaitihasik kal hindi me Read More »

UPSSSC प्राचीन भारत का इतिहास ancient history of india

प्राचीन भारत का इतिहास ancient history of india “इतिहास भूत/अतीत को समझाने का एक महत्वपूर्ण साधन है. किसी भी देश/समाज के इतिहास के अध्ययन से हमें उस देश या समाज के अतीत को जान सकते हैं और अतीत का आशय उस समाज या राष्ट्र की सभ्यता और संस्कृति होता है. और संसार के प्रत्येक देश …

UPSSSC प्राचीन भारत का इतिहास ancient history of india Read More »

Scroll to Top